"प्रथम पुरस्कार विजेता विदर्भ अंचल में प्रतिष्ठित आदर्श सोसाइटी  एवं स्टेट क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी के द्वारा प्रायोजित प्रतियोगिता के प्रथम पुरस्कार विजेता"

New

बैंक लोगो के ऊपर आलोकित स्ट्रेप का अर्थ है विधर्भ क्षेत्र में प्रतिष्ठित आदर्श समाज के प्रथम पुरस्कार विजेता एवं राज्य क्रेडिट कोआपरेटिव फेडेरशन द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार विजेता

अपनी भाषा चुनें :

आर्थिक स्थिति

यद्यपि भारतीय रिजर्व बैंक के मानदंड सोसाइटियों के लिए लागू नहीं होते क्यों की वे बहु जातीय क्रेडिट कोआपरेटिव समिति होते हैं , सोसाइटी ने जमा राशि स्वीकार करने के मुद्दे पर स्वेच्छा से रिजर्व बैंक के मानदंडों के अनुशासन को मान ने का फैसला लिया है ।  PML धारा,२००२ के अंतर्गत KYC निर्देश एवं क्रेडिट नीति (क्रेडिट मूल्यांकन, क्रेडिट पर्यवेक्षण, एवं प्रबंधन, NPA एवं  जोखिम नियंत्रण मानदंड) जो प्रत्येक बैंक एवं आर्थिक प्रतिष्ठानों के लिए लागू हैं ताकि आर्थिक स्थिति मज़बूत रहे एवं सु प्रबंधित प्रतिष्ठानों (FSWM) के रूप में प्रतिष्ठित हो सके ।

 

बैंकिंग के व्यवसाय में, अमानातें देयधन होते हैं एवं पेशगी संपत्ति होती है ।  अतः अमानत को पेशगी में निवेश करने से पहले सोसाइटी के लिए यह ध्यान में रखना आवश्यक हो जाता की पेशगी व्यवसायी हो। निवेश किये गए पेशगियों में से ९३% निवेश सुरक्षित पेशगी हैं एवं ७% असुरक्षित पेशगियाँ हैं, अर्थात अदायगी क्षमता एवं उनके अनुभवों के आधार पर दिए गए व्यक्तिगत ऋण।

 

सर्वांगीण उन्नति के लिए सोसाइटी ने एक अमानत संग्रह, जमा एवं पेशगी के संवितरण के लिए प्रबंधों द्वारा बनाए गए समय-बद्ध विकास योजना के अंतर्गत एक सूत्र की योजना  बनायी थी जिससे सदस्यों से प्रभावी रूप से अदायगी एवं चुकता करने की क्षमता एवं अनुभव के आधार पर पेशगी का संवितरण सम्भव हो।  इसके द्वारा NPA  को नियंत्रित कर आय में वृद्धि में सहायता मिली, इस प्रकार से १५.९०% की रिकार्ड दर से CRAR हासिल हुई । इससे यह तथ्य प्रतिष्ठित होता है की सोसाइटी आर्थिक रूप से मज़बूत एवं सुरक्षित है ।  रिज़र्व बैंक के मानदंड के अनुसार CRAR की पर्याप्तता ९% होनी चाहिए; जितना अधिक CRAR होगा प्रतिष्ठान की आर्थिक स्थिति उतनी ही मज़बूत होगी।

 

 

समाचारसमाचार

आगामी शाखा घतंजी

............................................................

'विदर्भ क्रेडिट सहकारी संघ' की और से  राजलक्ष्मी मल्टी स्टेट को  छठी  बार निरंतर प्रथम पुरस्कार मिला 

............................................................

इनकमिंग आरटीजीएस/एनइएफटी की सुविधा भी उपलब्ध

............................................................

............................................................

अब अपने डीएमडी२ प्लान के साथ केवल ७० महीनों में ही अपने धन को दुगुना करें

............................................................

राजलक्ष्मी जमा व ऋण पर बहुत ही बढ़िया ब्याज दर की सुविधा प्रदान करती है

............................................................

सुविधाः एसएमएस बैंकिंग, एटीएम, इटंरनेट बैंकिंग, आरटीजीएस, एनइएफटी और डीडी

............................................................

राजलक्ष्मी का कार्य क्षेत्र महाराष्ट्र, आध्रं प्रदेश, मध्य प्रदेश, गोवा, छत्तीसगढ़, गुजरात और कर्नाटक है

............................................................

राजलक्ष्मी अब बहु राज्य और आइएसओ प्रमाणित संगठन ९००१-२००८ है।

............................................................

विदर्भ क्षेत्र के प्रतिष्ठित आदर्श समाज में लगातार पाँच वर्षों तक प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया।

............................................................